टीवाईपीएफ की ओर से युवा यौन और प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकार पैरोकारी प्रशिक्षण के लिए आवेदन आमंत्रण

आवेदन के लिए आमंत्रण

द वाईपी फाउंडेशन युवा प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकार (एसआरएचआर) पैरोकारी प्रशिक्षण और प्रोग्रामिंग और नीतियों पर चर्चा के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की मीटिंग ‘यूथ इनसाइट: स्वास्थ्य और जेंडर की नीतियों पर संवाद’, के लिए एक पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। यह कार्यक्रम २६ से ३० अगस्त २०१८ के बीच नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा और इसमें भाग लेने के लिए भारत भर के युवा लोगों से वाईपी फाउंडेशन आवेदन आमंत्रित कर रहा है।

पृष्ठभूमि

२०११ के सेन्सस के मुताबिक, भारत में हर तीसरा नागरिक एक युवा है। शहरी, ग्रामीण, सामाजिक-आर्थिक और सांस्कृतिक मतभेदों में, किशोरों और युवाओं के पास उन मुद्दों को समझने और उनसे जुड़ने की क्षमता है जो उन्हें सीधे तौर पर प्रभावित करते हैं, लेकिन औपचारिक प्रणाली इसे नहीं पहचानती है। समस्या परिभाषित करने और एजेंडा सेटिंग के शुरुआती चरणों से हमारी युवा जनसंख्या को न शामिल करने के परिणामस्वरूप महत्वपूर्ण जानकारी की कमी हो सकती है जो जेंडर, स्वास्थ्य, शिक्षा और सम्माननीय कार्य के सन्दर्भ में विकास लक्ष्यों को अंतःस्थापित करने की प्रगति में बाधा डालता है और साथ ही युवा लोगों के मानवाधिकारों का उल्लंघन भी करता है।

वाईपी फाउंडेशन के बारे में

वाईपी फाउंडेशन (टीवाईपीएफ) एक युवा नेतृत्व वाली और युवाओं द्वारा संचालित संस्था है जो सामाजिक परिवर्तन पर युवा लोगों के साथ उनके मानवाधिकार परिप्रेक्ष्य बनाने के लिए काम करता है और उनको नीतिगत रूप से सिस्टम में होने वाली कमियों को संबोधित करने का मौका देता है। पिछले १५ वर्षों में, टीवाईपीएफ ने ७००० से अधिक युवा लोगों के साथ सामाजिक न्याय और मानवाधिकार के मुद्दों पर unke दृष्टिकोण और महत्वपूर्ण सोच विकसित करने के लिए काम किया है, और भारत में ३०० से अधिक परियोजनाएं स्थापित की हैं, जो ५००, ००० किशोरों और युवाओं तक पहुंच रही हैं।

कार्यक्रम के बारे में
युवा यौन और प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकार (एसआरएचआर) पैरोकारी प्रशिक्षण
२६ से २८ अगस्त २०१८

तीन दिवसीय राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण पूरे देश के ३० युवा लोगों के समूह के साथ आयोजित किया जाएगा, जिसमें युवाओं और किशोरों के यौन और प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों (एवायएसआरएचआर) से संबंधित कार्यक्रमों पर मौजूदा कानूनों और नीतियों पर उनकी समझ और दृष्टिकोण विकसित करने के उद्देश्य से किया जायेगा।

इसका उद्देश्य युवा लोगों को स्थानीय, राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एवायएसआरएचआर पर विभिन्न प्रकार की पैरोकारी पर जानकारी और कौशल के साथ तैयार करना है; पैरोकारी के विभिन्न तरीकों पर ध्यान केंद्रित करना जैसे कि हितधारकों का मानचित्रण, रणनीतियों का विकास आदि के साथ अन्य तरीकों और माध्यमों के बारे में सीखना जिसमें सोशल मीडिया, सरकारी बजट और चक्रों के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन बजट का विश्लेषण करना शामिल है।

यह प्रशिक्षण भारत में एवायएसआरएचआर कार्यक्रमों और नीतियों जैसे, किशोरावस्था शिक्षा कार्यक्रम, अर्श, राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम और आयुष्मान भारत आदि पर पैरोकारी करने के लिए तैयार किया जाएगा। इसके साथ ही यह विकासशील और अधिकार आधारित दोनों ढांचे से एवायएसआरएचआर मुद्दों पर उनके काम में अंतरराष्ट्रीय स्तर (नीति) उत्तरदायित्व तंत्र पर  प्रतिभागियों की जानकारी को भी बढ़ाएगा। इनमें मानवाधिकार प्रक्रियाएं (यूएनएचआरसी) के साथ साथ विकास एजेंडा प्रक्रियाएं - एचएलपीएफ, डब्ल्यूएचए, सीएसडब्ल्यू, सीपीडी शामिल हैं। प्रतिभागियों को यह पता चलेगा कि वे अंतरराष्ट्रीय स्तर की नीतियों और संधिओं को अपने पैरोकारी के काम में एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग कर सकते हैं।

इसके अलावा, यह प्रशिक्षण जेंडर और यौनिक हाश्याकरण से संबंधित मुद्दों को समझने पर केंद्रित होगा। यह यौन अभिविन्यास, जेंडर आधारित पहचान और अभिव्यक्ति (एसओजीआईई) के आधार पर होने वाले हाश्याकरण पर भारत में महिलाओं के आंदोलन और एलजीबीटी आंदोलन से भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाली बातचीत के आधार पर जानकारी लाने का काम भी करेगा। कुल मिलाकर यह प्रशिक्षण देश के एलजीबीटी अधिकारों की मांग के साथ धारा ३७७ और नालसा (एनएएलएसए) के फैसले जैसे भारतीय कानूनों और नीतियों के बीच संबंध बनाएगा।

यूथ इनसाइट: स्वास्थ्य और जेंडर की नीतियों पर संवाद
२९ से ३० अगस्त

इस दो दिवसीय आयोजन के दौरान, इन युवा प्रतिनिधियों को विभिन्न तरह की बहस और चर्चाओं में शामिल होने का अवसर मिलेगा और विभिन्न सामाजिक-सांस्कृतिक संदर्भों और कार्यक्रमों से इस क्षेत्र में काम कर रहे युवा पेशेवरों और कार्यकर्ताओं से बातचीत करने, उनसे सीखने और एक दूसरे के अनुभवों को साझा करने के अवसर भी मिलेंगे। वे सरकारी अधिकारियों के साथ पैरोकारी करना सीखेंगे और किशोरावस्था स्वास्थ्य, कल्याण और अधिकारों पर बड़े पैमाने पर बैठक का सार्थक हिस्सा बन पाएंगे।

प्रतिभागियों के यात्रा का किराया (थर्ड ए सी ट्रेन) द्वारा वापस किया जाएगा। ट्रेनिंग और सभा के द्वारान की अवधि के लिए द वाईपी फाउंडेशन द्वारा आवास और भोजन का प्रदान किया जाएगा।
पात्रता के मापदंड

किशोरावस्था और युवा एसआरएचआर (एवायएसआरएचआर) पर यह सभा आयोजित करने के लिए हम विभिन्न पृष्ठभूमि से युवा लोगों के आवेदन आमंत्रित करना चाहते हैं जो:

·    १८ से २९ साल के बीच हों (०१/०१/२०१८ तक)

·    जिनके पास युवा पैरोकारी या यौन और प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकार पर काम करने का कम से कम २ साल का अनुभव है

आवेदन कैसे करें

रुचि रखने वाले आवेदक विषय पंक्ति पर "युवा एसआरएचआर पैरोकारी प्रशिक्षण के लिए आवेदन" लिखकर नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट १५ जुलाई २०१८ को रात के ११ : ५९ मिनट तक सौविक पाइन या श्रुति अरोरा को info@theypfoundation पर भेज सकते हैं:

• पूरा आवेदन पत्र (नीचे दिया गया लिंक)
• नवीनतम रिज्यूमे
• एक सिफारिश पत्र/ रिकमेन्डेशन लेटर

https://docs.google.com/forms/d/e/1FAIpQLSd95kiJXhExyKtpdbDdR1bD3Ivu2K6XRip2UJXP_-Mn6_RTYg/viewform?usp=sf_link