Feminism in India: वो चार दिन : युवा-पैरोकारी पर प्रशिक्षण-कार्यशाला के

Swati Singh

बीते 18 से 21 जुलाई 2017 तक द वाई पी फाउंडेशन (नई दिल्ली) की तरफ से ‘युवा पैरोकारी के प्रशिक्षण’ पर कार्यशाला का आयोजन किया गया था, जहाँ देश के अलग-अलग क्षेत्र से आये युवा समाजकर्मियों ने हिस्सा लिया| इस कार्यशाला का हिस्सा बनना इतना आसान नहीं था, क्योंकि इसमें शामिल होने के लिए सिर्फ युवा होना काफी नहीं था| बल्कि इसके लिए ज़रूरी था सामाजिक मुद्दों पर सुलझी हुई तार्किक समझ का होना, किसी भी समस्या से निपटने के लिए सटीक समाधान तलाशने की परिपक्व सोच का होना और सबसे अहम कुछ नया सीखने, समझने और उसे अपने काम में लागू करने का जज्बा होना| इन सभी गुणों को फाउंडेशन की तरफ से आवेदन की लंबी प्रक्रिया के ज़रिए प्रतिभागियों को तराशा गया|

Read Article